बैंक से निकाल कर ब्वॉयफ्रेंड को दे दिया पैसा और घर वालों को बता दी लूट की कहानी

292
Advertisement

गोरखपुर। गुलरिहां इलाके की एक महिला का गांव के ही युवक से प्रेम संबंध है। महिला ने प्रेम में पडकर अपने खाते से रुपये निकालकर प्रेमी को दे दिए। घर वालों ने रुपये के बाबत छानबीन की तो उसने पति और परिवार के लोगों को गुमराह करने के लिए लूट की झूठी कहानी सुना दी।

Advertisement

इतना ही नहीं पुलिस को भी लूट की सूचना दे दी। पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की तो कहानी सामने आ गई। पोल खुलने के डर से महिला ने चौकी पुलिस को लिखित इकरारनामा देते हुए कबूल कर लिया कि उसके साथ कोई भी लूट नहीं हुई है।

विदेश में रहकर मजदूरी करता है महिला का पति

महिला का पति कुछ वर्षों से विदेश रहकर मजदूरी करता है। वह पत्नी के खाते में पैसा भेज कर समूह आदि से लिए कर्ज को भुगतान करने के लिए कहा था। दोपहर में महिला भटहट कस्बे के स्टेट बैंक से तीस हजार रूपए निकाले थे। पैसा निकालने के बाद वह प्रेमी से मिलने चली गई। कुछ पैसा उसने प्रेमी को दे दिया।

Advertisement

पति को पैसे का हिसाब ना देना पड़े इसलिए घर पहुंचने के बाद रात्रि लगभग आठ बजे एक तीसरे व्यक्ति के माध्यम से पुलिस को लूट की सूचना दिलवा दिया कि पिपरी के पास उससे तीस हजार रूपए की लूट हो गई है।

पुलिस के सवालों में फंसती गई महिला

जब पुलिस जांच पड़ताल के लिए पहुंची तो पता चला कि दोपहर 12 बजे पैसा निकालने के बाद बैंक से घर तक मात्र 4 किलोमीटर जाने में उसे 5 घंटे क्यों लगे। इसका जवाब महिला नहीं दे सकी । पुलिस के सवालों पर महिला अपने ही कहानी में फंसती चली गई। इधर पुलिस को महिला के मोबाइल से 5 घंटे के भीतर एक व्यक्ति के कई बार फोन करने की जानकारी मिल चुकी थी।

दूसरे दिन खुद पुलिस चौकी पर पहुंच गई महिला

मामला खुलता देख महिला सुबह होते ही पुलिस चौकी पहुंची और लिखित इकरारनामा देकर लूट की सूचना को झूठा बता दिया । इस संबंध में प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार अग्निहोत्री ने बताया कि महिला ने लिखित रूप से अपने साथ किसी भी घटना के होने से इनकार कर दिया है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement