मदरसे के अधेड़ शिक्षक ने नाबालिक ने बनाए संबंध, पंचायत ने सुनाया निकाह का फरमान

0
208

गोरखपुर के पिपराईच इलाके में गुरु-शिष्य परंपरा को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. यहां एक शिक्षक के दसवीं की छात्रा के साथ अवैध संबंध थे. शिक्षक शादीशुदा है. मामला यहीं तक नहीं थमा।

Advertisement

इसके बाद पंचायत ने भी मामले में तुगलकी फरमान सुना दिया. पंचायत ने आरोपी को पुलिस को सौंपने की बजाए नाबालिक से शादी करने का फैसला सुनाया. नाबालिग से विवाह करना कानून के खिलाफ है.

इसके बाद भी पंयायत ने ये तुगलकी फैसला सुनाया. बेटी के संबंधों की चर्चा और बदनामी के डर से बच्ची के परिवार वालों ने भी पंचायत के फैसले को मान लिया. वहीं शिक्षक के पिता ने प्रॉपर्टी में बंटवारे की बात उठा कर मामले को और फंसा दिया.

Advertisement

पिता ने उठाई ये मांग

शिक्षक के पिता ने कहा है कि अगर वो अपनी पहली पत्नी और बच्चों के नाम आधी प्रॉपर्टी करेगा तभी वो उसे शादी की इजाजत देंगे. जानकारी के अनुसार पिपराइच थाना क्षेत्र के गांव में एक मदरसा है.

मदरसे में 50 साल का शिक्षक बच्चों को पढ़ाता है. मदरसे में ही दसवीं कक्षा की छात्रा भी पढ़ती थी. शिक्षक ने छात्रा को अपने जाल में फंसाया और दो साल से उसके साथ संबंध में था. जब मामले की चर्चा पूरे गांव में फैल गई तो पंचायत बुलाई गई.

शिक्षक आधी प्रॉपर्टी देने के लिए हुआ राजी

पंचायत ने नाबालिग से शिक्षक की शादी का फरमान सुना दिया. इस शिक्षक के पिता ने प्रॉपर्टी को लेकर विरोध किया. इस पर पंचायत ने कहा कि शिक्षक को अपनी आधी प्रॉपर्टी पहली पत्नी औऱ बच्चों के नाम करनी होगी. इसके बाद वो निकाह की सहमति देंगे. शिक्षक इसके लिए तैयार हो गया और छात्रा से निकाह की बात पर पंचायत खत्म हो गई.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement