एंटीजन टेस्ट के बाद होगी नसबंदी, 21 जून से निर्धारित सेवा दिवस पर मिलेगी सुविधा

0
137
Advertisement

गोरखपुर। नसबंदी के लाभार्थियों को सेवा प्रदान करने से पहले उनकी एंटीजन विधि से कोविड जांच होगी। इसके बाद कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए नसबंदी की जाएगी।

Advertisement

ज्यादा से ज्यादा लाभार्थियों तक इस सुविधा का लाभ पहुंचाने के लिए 21 जून से निर्धारित सेवा दिवस का आयोजन किया जाएगा।

यह जानकारी अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (परिवार कल्याण) डॉ. नंद कुमार ने दी। उन्होंने बताया कि निर्धारित सेवा दिवस के संबंध में विस्तृत कैलेंडर भी जारी किया गया है।

Advertisement

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (परिवार कल्याण) का कहना है कि सभी संबंधित अधिकारियों को दिशा-निर्देशित किया गया है कि इस माह में प्रत्येक हेल्थ विजिटर (एचवी), एएनएम और आशा कार्यकर्ता के माध्यम से नसबंदी के कम से कम एक लाभार्थी को सेवा का लाभ दिलवाने का प्रयास करें।

पिपराईच सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) और सूर्या क्लिनिक में प्रतिदिन मिनी लैप पद्धति से महिला नसबंदी और पुरुष नसबंदी की सुविधा उपलब्ध होगी। जिला महिला अस्पताल में महिला नसबंदी रोजाना होगी।

बुधवार और शनिवार को महिला नसबंदी के साथ पुरुष नसबंदी की भी सुविधा मिलेगी। प्रकाश सर्जिकल क्लिनिकल में प्रतिदिन पुरुष नसबंदी की सुविधा उपलब्ध होगी। जिला चिकित्सालय में हर माह की 21 तारीख को पुरुष नसबंदी की सुविधा दी जाएगी।

Advertisement

उन्होंने बताया कि प्रत्येक निर्धारित सेवा दिवस पर अधिकतम 30 नसबंदी की सेवा दी जानी है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश टेक्निकल सपोर्ट यूनिट (यूपीटीएसयू) के जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ की तरफ से तकनीकी सहयोग प्रदान किया जाएगा।

यहां होंगे निर्धारित सेवा दिवस के आयोजन

डॉ. नंद कुमार ने बताया कि 21 जून को कौड़ीराम, गगहा, कैंपियरगंज, जंगल कौड़िया, भटहट और चरगांवा स्वास्थ्य इकाइयों पर, 22 जून को सहजनवां, पाली, पिपराईच, गोला और बड़हलगंज स्वास्थ्य इकाइयों पर, 23 जून को जिला महिला अस्पताल, 24 जून को खोराबार, ब्रह्मपुर, सरदारनगर, बांसगांव, पिपरौली और खजनी स्वास्थ्य इकाईयों पर, 25 जून को उरूवा और बेलघाट स्वास्थ्य इकाईयों पर, जबकि 30 जून को जिला महिला अस्पताल पर निर्धारित सेवा दिवस का आयोजन किया जाएगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement