गाँव गाँव जाकर कोरोना काल में राज्य सरकार के फेलियर को मुद्दा बनाएगी सपा

0
208
Advertisement

प्रदेश में 2022 में होने वाले चुनाव को लेकिर भी से तैयारियाँ शुरू हो गईं हैं। एक तरफ जहां बीजेपी में उठापटक की खबरे आ रही हैं वहीं मौजूद सरकार को चुनौती देने के लिए समाजवादी पार्टी कमर कसकर तैयार है। पार्टी के तेवरों से साफ लग रहा है कि वह कोरोना संक्रमण काल में उत्तर प्रदेश सरकार के कुप्रबंधन को पश्चिम से पूरब तक सबसे प्रमुख मुद्दा बनाने जा रही है।

Advertisement

पश्चिम में राष्ट्रीय लोकदल का साथ समाजवादी पार्टी की ताकत बढ़ा रहा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय लाठर कहते हैं कि आखिर बचा ही क्या? महानगरों का संक्रमण गांवों तक पहुंच गया। एक-एक गांव में 20-25 लोगों ने जान गंवाई है।

संजय लाठर कहते हैं कि हम तो विधानसभा और विधान परिषद के सत्र में राज्य सरकार से सवाल पूछेंगे। इतना ही नहीं यह 2022 में प्रस्तावित उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव का मुख्य मुद्दा भी है। लाठर कहते हैं कि समाजवादी पार्टी इस मामले को गांव-गाव में जनता के बीच में लेकर जाकर रही है।

Advertisement

समाजवादी पार्टी के एक अन्य नेता सुशील दूबे का कहना है कि इस बार कोरोना के संक्रमण ने हर गांव में लोगों के भीतर डर बैठा दिया। यह उत्तर प्रदेश सरकार और केन्द्र सरकार की नाकामी का नतीजा है।

इस मुद्दे पर अभी हम सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के संपर्क में हैं, लेकिन लॉकडाउन खुलने के बाद गांव-गांव संपर्क करके लोगों को इसके बारे में जानकारी दी जाएगी।

कोरोना का प्रहार, फेल है उत्तर प्रदेश सरकार
समाजवादी पार्टी का नया नारा ‘कोरोना का प्रहार, फेल है उत्तर प्रदेश सरकार।’ इस नारे को जुलाई महीने से पूरे प्रदेश में पहुंचाने की योजना है। बताते हैं कि जिला मुख्यालयों से लेकर ब्लाक और तहसील स्तर तक राज्य सरकार की पोल खोलने की तैयारी है।

Advertisement

इसे ध्यान में रखकर ही मई 2021 के समाजवादी बुलेटिन में पार्टी ने कोरोना पर ही मुख्य फोकस किया है। इसमें कोरोना से हुई मौत को नर संहार बताया गया है।

पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खां पर फोकस है। कोरोना संक्रमण का शिकार हुए राष्ट्रीय लोकदल के नेता चौधरी अजीत सिंह को भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई है। इसके अलावा पंचायत चुनाव के नतीजों को विधानसभा 2022 का संदेश बताया गया है।

समाजवादी बुलेटिन में योगी सरकार के फेल होने का क्रमवार विवरण हैं। पार्टी ने उत्तर प्रदेश सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि अखिलेश सरकार के समय में लिए गए प्रभावी निणयों और उठाए गए कदमों के कारण ही कोरोना संक्रमितों को थोड़ी राहत मिल पाई। कुल मिलाकर कोरोना संक्रमण पर केन्द्रित मैगजीन के सहारे पार्टी ने अपने जमीनी कार्यकर्ताओं को भी संदेश भेजने की तैयारी की है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement