खुलासा: गोरखपुर पंचायत चुनाव मतगणना में हुई थी हेर फेर, हारे हुए प्रत्याशी को दे दिया जीत का प्रमाणपत्र

0
64

गोरखपुर जिले के ब्रह्मपुर विकास खंड के दो वार्डों के विजयी प्रत्याशियों ने मतगणना में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए बुधवार शाम को जमकर बवाल किया।

Advertisement

इस दौरान पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया था।

इस घटना के बाद आला अधिकारियों ने बूथवार वोटों का मैनुअली मिलान किया, जिसमें ब्रह्मपुर के आरओ की गलती सामने आई।

Advertisement

जिलाधिकारी ने ऐक्शन लेते हुए आरओ पर मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए हैं।

हारे प्रत्याशियों को दे दिया गया जीत का प्रमाण पत्र
ब्रह्मपुर विकास खंड के वार्ड नम्बर 60 से जिला पंचायत प्रत्याशी रवि प्रताप निषाद ने मतगणना के दौरान जीत हासिल की थी, लेकिन मतों के जोड़ में हेरफेर करते हुए प्रमाण पत्र गोपाल यादव को दे दिया गया।

वहीं, वार्ड नंम्बर 61 से कोदई निषाद विजयी घोषित हुए थे और इनकी जगह पर प्रमाण पत्र रमेश यादव को जारी कर दिया गया।

Advertisement

इसी तरह की गड़बड़ी बड़हलगंज के वार्ड संख्या 45 से भी मिली, जब बीएसपी समर्थित रामअचल को विजयी घोषित कर दिया गया।

इस मामले के जांच में आरओ ने सही रिपोर्ट भेजी थी, लेकिन लिपकीय त्रुटि की वजह से रामअचल को विजयी घोषित कर दिया गया, जबकि जांच में स्पष्ट हुआ कि सर्वाधिक वोट देवशरण को मिले थे।

वहीं, वार्ड नंबर 60 और 61 के मतों की जांच में ब्रह्मपुर के रिटर्निंग ऑफिसर वीरेंद्र कुमार की गलती सामने आई है।

Advertisement

आरओ ने किया था मतों में हेरफेर…..जिलाधिकारी ने लिया यह ऐक्शन

उधर, इस मामले में जिलाधिकारी के. विजेंद्र पंडियन ने बताया कि जिला पंचायत वार्ड नं 21, 32, 45, 60 और 61 के नतीजे को लेकर शिकायत मिल रही थी। इसके बाद सभी मतों की बूथवार जांच की गई।

इसमें तीन वार्ड 60, 61 और 45 में गड़बड़ी मिली। सुधार कर परिणाम घोषित किया गया। वहीं, वार्ड नं. 21 और 32 के नतीजे सही मिले।

Advertisement

वार्ड नं. 60 और 61 में ब्रह्मपुर के आरओ सिंचाई विभाग के एक्सईएन वीरेंद्र कुमार के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

इसके साथ ही उनके खिलाफ चुनाव आयोग में भी कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement