बुढ़वा मंगल आज, बाबा गोरखनाथ को चढ़ रही आस्था की खिचड़ी

492
Advertisement

बुढ़वा मंगल (मकर संक्रांति के बाद पड़ने वाले दूसरे मंगलवार) के अवसर पर श्रद्धालु गोरखनाथ मंदिर में बाबा गोरखनाथ को आस्था की खिचड़ी चढ़ा रहे हैं और मंगल कामना कर रहे हैं। खिचड़ी चढ़ाने की आनुष्ठानिक प्रक्रिया संपन्‍न करने बाद श्रद्धालु मंदिर परिसर में लगे मेले का लुत्फ भी उठा रहे हैं।

Advertisement

भाेर से ही लग गई थी लाइन

ब्रह्म मुहूर्त में सुबह चार बजे ही मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए। उसके पहले से ही मंदिर के गेट पर दूर-दराज से आए श्रद्धालु पंक्तिबद्ध होकर खड़े थे। कपाट खुलते ही बाबा गोरखनाथ, हर-हर महादेव, मां गंगा और गो-माता के जयघोष से मन्दिर परिसर गूंज उठा। उसके बाद क्रम से खिचड़ी चढ़ाने का जो सिलसिला शुरू हुआ, वह अनवरत जारी है।

Advertisement

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

जो श्रद्धालु किसी कारणवश मकर संक्रांति के दिन बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी नहीं चढ़ा पाते हैं, वह बुढ़वा मंगल के दिन यह कार्य संपन्‍न करते हैं। मान्यता है कि बुढ़वा मंगल के दिन बाबा को खिचड़ी चढ़ाने पर उतना ही पुण्य मिलता है, जितना मकर संक्रांति पर। श्रद्धालुओं की भीड़ के मद्देनजर मंदिर प्रबंधन व जिला प्रशासन ने सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया है। मंदिर के स्वयंसेवक भी श्रद्धालुओं की मदद कर रहे हैं।

Advertisement

Advertisement