बांसगांव में मात्र 7 हजार रुपये के लिए बदमाशों ने बुजुर्ग की पीटकर कर दी हत्या

55
Advertisement

घटना बांसगांव एरिया के नगर पंचायत के वार्ड नंबर-5 की है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हत्या का केस दर्ज कर पुलिस ने आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है।

Advertisement

जानकारी के अनुसार नगर पंचायत बांसगांव के वार्ड संख्या 5 बड़ावन पश्चिमी निवासी अशोक गुप्ता (55) सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान चलाते हैं। वहीं उनके पुत्र अरुण ने मोहल्ले के ही एक बिस्किट एजेंसी से उधारी पर बिस्किट ले रखा था। अरुण ने पुलिस को दी गई तहरीर में बताया कि शुक्रवार सुबह 9 बजे एजेंसी संचालक गोपाल श्रीवास्तव अपने दो पुत्रों गौरव व अंकुर तथा प्रिंस सिंह पुत्र अज्जू, संजीव उर्फ सोनू पुत्र विजय प्रताप सिंह व राघवेंद्र सिंह पुत्र अज्ञात के साथ दुकान पर पहुंचे। गोपाल बकाए का सात हजार रुपए देने की मांग करने लगे। जबकि उन्हें गुरुवार की शाम को ही रुपए दे दिया गया था। 

सात हजार रुपए का सामान लिया था उधार

Advertisement

बांसगांव एरिया के नगर पंचायत के वार्ड नंबर- 5 के रहने वाले दिलीप कुमार गुप्ता ने बताया कि वह घर के पास ही मस्जिद में अंडे और किराने की दुकान चलाते हैं। थोक व्यापारी गौरव श्रीवास्तव से वे करीब सात हजार रुपए का उधार सामान लाए थे। आरोप है कि बुधवार की रात गौरव आए और अपना बकाया मांगने लगे। दिलीप ने अगले दिन बकाया रुपए देने को कहा, लेकिन गौरव तत्काल मांगने लगे। दिलीप के मुताबिक उन्होंने अपने भाई अरुण कुमार को बुलाया और पैसा ले जाकर गौरव को घर पर दे दिए। 

हमलावरों ने परिवार को पीटा 

गोपाल इससे इंकार करते बार-बार रुपए की मांग करते हुए अरुण को गालियां देते मारपीट पर उतारु हो गए। इस दौरान उनके साथ लाठी-डंडा राड से लैस होकर आए सभी लोग हमलावार हो उठे। शोर सुनकर अरुण के पिता अशोक बीच बचाव करने पहुंचे तो हमलावरों ने उन्हें मार पीटकर मार डाला। परिजनों ने अशोक को सीएचसी पहुंचाया। जहां पर डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजने के साथ ही 302 यानी हत्या की धारा में एफआइआर दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है। 

Advertisement

दिनदहाड़े हत्या

 दिनदहाड़े हुई कोटेदार की हत्या की सूचना मिलते ही सीओ राहुल भाटी, तहसीलदार संदीप त्रिपाठी, नायब तहसीलदार चंदन शर्मा के अलावा प्रभारी निरीक्षक विवेक मलिक, एसएसआई नितिन रघुनाथ श्रीवास्तव, एसआई राजेश कुमार यादव, राजकपूर, इत्यानंद पांडेय, गोपाल यादव, छोटेलाल, अर्शद खां सहित बड़ी संख्या के जवानों ने स्थिति को नियंत्रित किया।

शुरू हुई आरोपितों की तलाशदिलीप के मुताबिक उनके परिवार पर हमला करने वालों में गौरव श्रीवास्तव के अलावा अंकुर श्रीवास्तव, गोपाल श्रीवास्तव, सोनू सिंह, प्रिंस सिंह सहित अन्य अज्ञात लोग शामिल थे। दिलीप ने बताया कि सभी को नामजद करते हुए उन्होंने पुलिस को तहरीर दे दी है।परिजनों की तरफ से तहरीर मिली है। केस दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। आरोपितों की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। विवेक मलिक, इंस्पेक्टर बांसगांव

Advertisement

साभार: inextlive.com

Advertisement
Advertisement