खुशहाल परिवार दिवस: नवाचार अपनाएं, सम्मान और पुरस्कार पाएं, आज से आयोजन हुआ शुरू

0
163
Advertisement

गोरखपुर। जिले में आज यानी 21 जून से खुशहाल परिवार दिवस आयोजित किया गया। इस संबंध में सीएमओ डॉ. सुधाकर पांडेय ने सभी संबंधित अधिकारियों को पत्र भेज कर विस्तृत दिशा-निर्देश था।

Advertisement

पत्र में कहा गया है कि दिवस का शुभारंभ जनप्रतिनिधियों को बुला कर करवाया जाए। इस बात पर जोर दिया गया है कि आयोजन में नवाचार अपनाने का प्रयास किया जाए और इससे संबंधित फोटो-वीडियो और रिपोर्ट जिले के परिवार नियोजन अनुभाग को उपलब्ध कराई जाए।

राज्यस्तर से बेहतरीन नवाचार पुरस्कृत होंगे और संबंधित अधिकारियों का नाम राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के फेसबुक और ट्विटर पेज पर प्रदर्शित किया जाएगा।

Advertisement

मुख्य चिकित्सा अधिकारी का कहना है कि जो चिकित्सा इकाइयां संचार और अभियान के स्तर पर कोई नवाचार अपनाती हैं उनकी रिपोर्ट राज्य स्तर पर भेजी जाएगी। राज्य स्तर से ऐसे तीन से चार उत्कृष्ट जनपदों को पुरस्कृत करने की योजना है।

जिन जिलों को पुरस्कार मिलेगा उनके अधिकारियों और कर्मचारियों का नाम सोशल मीडिया पेज पर प्रदर्शित कर सम्मान दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि विगत खुशहाल दिवस के सापेक्ष लाभार्थियों की संख्या में 20 फीसदी बढ़ोत्तरी का भी लक्ष्य रखा गया है।

Advertisement

इस मौके पर परिवार नियोजन से जुड़ी सभी सामग्री की शत-प्रतिशत उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी और आयोजन की रिपोर्ट जिला स्तर पर प्रेषित करने के साथ-साथ एचएमआईएस पोर्टल पर भी अपडेट करने को कहा गया है।

सीएमओ डॉ. पांडेय ने बताया कि बारिश को देखते हुए लाभार्थियों के बैठने और पेयजल की भी व्यवस्था करने को कहा गया है।

परिवार नियोजन की सेवा एवं परामर्श के लिए एक अलग से काउंटर बनाया जाएगा ताकि निजता का ध्यान रखते हुए परामर्श दिया जा सके।

Advertisement

इस मौके पर एक वर्ष के भीतर प्रसव करवाने वाली उच्च जोखिम गर्भावस्था (एचआरपी) वाली महिलाओं, नवविवाहित दम्पत्ति और ऐसे दम्पत्ति जिनके पास तीन या तीन से अधिक बच्चे हैं, उन्हें चिकित्सा इकाई तक लाने का प्रयास आशा कार्यकर्ता के स्तर से किया जाएगा।

एचआरपी महिलाओं को पीपीआईयूसीडी सेवा के लिए प्रेरित करना है। उन्हें गर्भनिरोधक छाया गोली और प्रसव उपरान्त नसबंदी के लिए भी प्रेरित करना है। तीन या तीन से अधिक बच्चों वाले योग्य दम्पत्ति को परामर्श देकर आईयूसीडी, महिला नसबंदी और पुरुष नसबंदी के लिए प्रेरित करना है।

5801 कंडोम बांटे गये

फेमिली प्लानिंग लॉजिस्टिक मैनेजर अवनीश चंद्र ने बताया कि कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मार्च में आयोजित खुशहाल परिवार दिवस के मौके पर जिले में 5801 कंडोम वितरित हुए थे।

Advertisement

लाभार्थियों ने परिवार नियोजन के अस्थायी साधनों के प्रति रूचि दिखलायी थी। 42 महिलाओं ने अंतरा इंजेक्शन, 103 महिलाओं ने साप्ताहिक गोली छाया, 27 महिलाओं ने पीपीआईयूसीडी, 101 महिलाओं ने आईयूसीडी और कुल 130 महिलाओं ने गर्भनिरोधक गोली माला एन का चुनाव किया। यह आयोजन नवम्बर 2020 से प्रत्येक माह की 21 तारीख को होता है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement