पिता फंसे थे गुजरात में, बेटियों ने मां के पार्थिव शरीर को दिया कंधा

340
Advertisement

कुशीनगर। कुशीनगर के कप्तानगंज से एक ऐसा वाकया सामने आया जिससे आपकी आंखें नम हो जाएंगी। तमाम परंपराओं और बन्धनों को तोड़ते हुए यहां की बेटियों ने अपनी मां के शव को कंधा दिया। वार्ड 11 निवासी उषा देवी उम्र 42 वर्ष की दर्दनाक मौत आर्थिक तंगी के कारण और इलाज के अभाव मे हो गयी। पति गुजरात में रहकर कमाता था और इस लॉकडाउन में वहीं फंसा है इसलिए आ नहीं पाया। जिसके कारण उनकी तीनों बेटियों ने उन्हें कंधा दिया।

Advertisement

जानकारी के अनुसार कप्तानगंज कस्बे के वार्ड 11 मे दिपचन्द भरभुज जो भुमिहीन और निहायत गरीब है किराये की मकान मे रहते हैं। अपने तीन बेटियो अनिता उम्र 18 अर्चना 16 राधिका 14 के साथ अपनी पत्नी उषा देवी को पीछे छोडकर कुछ वर्षो पुर्व वो गुजरात कमाने के लिए चले गये।

इधर लगभग छ माह से उषा देवी की तबियत खराब चल रही थी । लॉकडाऊन के कारण पति को पैसे नही मिल रहे थे वह गुजरात मे ही फंसे थे। लेकिन फिर उषा देवी की तबियत ज्यादा बिगड़ गयी जिससे उनकी मौत हो गयी। सुचना मिलने पर नगर अध्यक्ष प्रतिनिधि शिवशंकर आग्रहरी ने मौके पर पहुँचकर अन्तिम संस्कार का बीड़ा उठाया और मां को कन्धा अबोध बच्चियों ने देते हुये अन्तिम संस्कार किया। मां के मौत से बच्चियों का रो रो कर बुरा हाल है। इस बावत एसडीएम अरविंद कुमार ने कहा मैं स्वयं परिजनो से मिलूंगा और पीड़ितों की हर हाल मे मदद की जाएगी।

Advertisement
Advertisement