विधायक विनय शंकर तिवारी समेत पूरा हाता बसपा से निष्कासित, जल्द होंगे सपा में सवार

225
Advertisement

गोरखपुर। बसपा सुप्रीमो मायावती ने यूपी चुनाव से पहले गोरखपुर जिले के अपने इकलौते विधायक समेत पूरे तिवारी परिवार को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है।

Advertisement

मायावती ने बीएसपी विधायक विनय शंकर तिवारी, पूर्व सांसद कुशल तिवारी और गणेश शंकर पांडेय को पार्टी से निकाल दिया है। हालांकि पहले ही कयास लगाए जा रहे थे कि गोरखपुर का तिवारी परिवार जल्द ही सपा में शामिल हो सकता है।

बताया जा रहा है, बसपा से निष्कासन की कार्रवाई के पीछे तिवारी परिवार कि सपा में जॉइनिंग की सुगबुगाहट को देखते हुए किया गया है।

Advertisement

पूर्वांचल की राजनीति में अपनी खास पहचान रखने वाला तिवारी परिवार जल्द ही सपा में शामिल होगा। विनय शंकर, भीष्म शंकर और गणेश शंकर पांडेय 12 दिसंबर को अखिलेश यादव की मौजूदगी में सपा की सदस्यता ले सकते हैं।

बताया ये भी जा रहा है कि इनके साथ दो अन्य ब्राह्मण विधायक भी सपा में शामिल होंगे।

Advertisement

बता दें, हरिशंकर तिवारी के बड़े बेटे कुशल तिवारी दो बार संत कबीर नगर से सांसद रहे हैं तो छोटे बेटे विनय शंकर तिवारी चिल्लूपार विधानसभा से बीएसपी विधायक हैं।

गणेश शंकर पांडे, हरिशंकर तिवारी के भांजे हैं और बीएसपी सरकार में विधान परिषद के सभापति रहे हैं।

Advertisement
Advertisement

Advertisement