प्रयागराज स्नान के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में रोडवेज की बस उपलब्ध न होने से श्रद्धालु परेशान

803
Advertisement

सुनील गहलोत
गोरखपुर
प्रयागराज में मौनी अमावस्या के दिन दान पुण्य के साथ ही स्नान के बाद सूर्य की उपासना फलदायी माना जाता है।इस बार मौनी अमावस्या आगामी 24 जनवरी को पड़ रहा।गोरखपुर के ग्रामीण क्षेत्रो से प्रयागराज जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बहुतायत होती है। लेकिन इस बार यूपी रोडवेज विभाग द्वारा अभी तक ग्रामीण क्षेत्रों में बस उपलब्ध नहीं कराया जा सका।श्रद्धालु बसों के इंतजार में बीते दिन सोमवार को दिन भर परेशान रहे।उरुवा ,सिकरीगंज,गोला बाजार व माल्हनपार के कस्बों चौराहों पर देर रात तक प्रयागराज जाने वाली यात्री परेशान दिखे।

Advertisement

लोगों ने विभाग के अधिकारियों से भी इसकी शिकायत की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।
बताते चलें कि इस तिथि को तीर्थस्थलों पर स्नान करने मोक्ष की प्राप्ति की मान्यता है। प्रयागराज के माघ मेले में स्नान के लिए मौनी अमावस्या का दिन भी बेहद शुभ माना जाता है।

इस बार ये अमावस्या 24 जनवरी को पड़ रही है। जिस दिन शनि का राशि परिवर्तन भी होगा। अगला स्नान बसंत पंचमी यानी 30 जनवरी को किया जायेगा। फिर 9 फरवरी यानी माघी पूर्णिमा भी स्नान के लिए प्रमुख तिथि मानी गई है। आखिरी स्नान महाशिवरात्रि यानी 21 फरवरी के दिन होगा। इसी दिन माघ मेले का अंत भी हो रहा।

Advertisement
Advertisement