बॉयफ्रेंड के चक्कर में सास ससुर को बहू ने मार डाला, अब पति को रास्ते से हटाना चाहती थी

195
Advertisement

आजमगढ़। लेखपाल दंपत्ति की फावड़े से काटकर की गई निर्मम हत्या बहू ने ही अवैध संबंधों के चलते अपने प्रेमी के साथ मिलकर अंजाम दिलाई थी।

Advertisement

एक और प्लानिंग अपने दिल के भीतर दबाए बैठी बहू की योजना अब अपने पति की हत्या भी कराने की थी। पुलिस ने इस सिलसिले में सात लोगों को गिरफ्तार करते हुए मामले का खुलासा कर दिया है।

पुलिस अधीक्षक ने घटना का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को 15000 रुपए के पुरस्कार की घोषणा की है।

Advertisement

शनिवार को जिला मुख्यालय पर हुई प्रेसवार्ता में एसनी अनुराग आर्य ने बताया कि आजमगढ़ जिले के तरवां थाना क्षेत्र में लेखपाल दंपत्ति रामनगीना और उनकी पत्नी की 29 नवंबर को फावड़े से काट कर निर्मम हत्या कर दी गई थी।

पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य की ओर से बताया गया है कि इस घटना को लेकर पुलिस की ओर से छह एंगिल पर अपनी जांच शुरू की गई थी।

घटना के खुलासे के लिए 27 लोगों से पूछताछ की गई। जिसमें मृतक दंपति की पुत्रवधू ज्योति की मुख्य भूमिका सामने आई है।

Advertisement

एसपी ने बताया है कि लेखपाल दंपत्ति की पुत्रवधू ज्योति ने अपने प्रेमी पंकज के साथ मिलकर हत्या की पूरी साजिश रची थी।

लेखपाल दंपत्ति को ठिकाने लगाने के बाद वह पति की भी हत्या कराकर नए तरीके से प्रेमी पंकज के साथ जीवन जीना चाहती थी।

इस मामले में पिंटू यादव, धर्मेंद्र यादव, रमाकांत यादव और अखिलेश यादव समेत सात लोगों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है।

Advertisement

इस मामले में पंकज यादव अभी तक फरार है। जिस पर 25000 रूपये का इनाम रखा गया है। इसके साथ ही गवाहों को सुरक्षा देने का पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया गया है।

एसपी ने बताया है कि दंपति की हत्या में प्रयुक्त की गई लोहे की रॉड और फावड़ा भी अभियुक्तों की निशानदेही पर बरामद कर लिया गया है।

Advertisement
Advertisement

Advertisement