कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने अपनी ही पार्टी पर लगाया गंभीर आरोप, कहा मत करो राजनीति

697
Advertisement

गोरखपुर। पिछले दो तीन दिनों से इस कोरोना काल में उत्तर प्रदेश में बसों को लेकर कांग्रेस और बीजेपी के बीच सियासी जंग जारी है। जिसके बाद आज रायबरेली सदर से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह ने अपनी ही पार्टी पर सवाल खड़ा कर दिया है और कहा है कि इस संकट के दौर में पार्टी राजनीति ना करे। अदिति सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि: आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत,एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 आटो रिक्शा व एबुंलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के, ये कैसा क्रूर मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान,पंजाब, महाराष्ट्र में क्यूं नहीं लगाई।

Advertisement

यही नहीं उसी ट्वीट में अदिति सिंह आगे लिखती हैं कि: कोटा में जब UP के हजारों बच्चे फंसे थे तब कहां थीं ये तथाकथित बसें, तब कांग्रेस सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए,बार्डर तक ना छोड़ पाई,तब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रातों रात बसें लगाकर इन बच्चों को घर पहुंचाया, खुद राजस्थान के सीएम ने भी इसकी तारीफ की थी।

आपको बता दें कि बस विवाद को लेकर कल लखनऊ में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और प्रियंका गांधी के सचिव संदीप सिंह पर एफआईआर भी हुई थी जिसके बाद कांग्रेस शासित प्रदेश राजस्थान में उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी और आगरा के जिलाधिकारी के ऊपर एफआईआर हुआ था। पूरे मामले पर सियासत गर्म है और अब देखना होगा कि जब खुद कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह ने इसपर सवाल खड़ा कर दिया है तो पार्टी की तरफ से क्या सफाई आती है।

Advertisement
Advertisement