CM योगी ने बरसात से पहले रामगढ़ताल से तरकुलानी नाले की ड्रेजिंग कराने का दिया निर्देश

50
Advertisement

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बरसात शुरू होने के पहले रामगढ़ताल से तरकुलानी तक जाने वाले नाले की ड्रेजिंग कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि सभी बड़े-छोटे नालों की सफाई का काम भी जल्द पूरा कर लिया जाए। जलभराव से बचाव के जो भी काम चल रहे हैं, उनकी नियमित मॉनीटरिंग की जाए ताकि समय से ये काम पूरे हो सकें।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने ये निर्देश, शुक्रवार को गोरखनाथ मंदिर में अधिकारियों से मुलाकात के दौरान दिए। उन्होंने जलभराव की समस्या से निपटने के लिए किए जा रहे कार्यों की प्रगति पूछी। रामगढ़ताल-तरकुलानी रेगुलेटर नाला पर चर्चा करते हुए कहा कि इसकी ड्रेजिंग कराई जाए, जिससे शहर का पानी रामगढ़ताल के रास्ते आसानी से निकल जाए। यह नाला करीब 14.98 किलोमीटर लंबा है।

बृहस्पतिवार को कमिश्नर रवि कुमार एनजी ने इस नाले का निरीक्षण कर इसकी सफाई कराने के साथ ही नाले का सीमांकन कराकर, इसकी जमीन पर हुए अतिक्रमण को हटाने का निर्देश दिया था। मुख्यमंत्री ने गोड़धोइया नाला की सफाई, असुरन नाला की रीमॉडलिंग एवं अन्य नालों की सफाई की प्रगति भी पूछी। उन्होंने दोहराया कि इस बार बरसात में किसी भी कीमत पर जलभराव नहीं होना चाहिए। गोड़धोइया नाला को पक्का बनाने पर भी चर्चा हुई। उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही इस प्रस्ताव को शासन से हरी झंडी मिल जाएगी।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा कि सफाई से जुड़े काम समय से पूरे कर लिए जाएं। इस दौरान विकास की कुछ बड़ी परियोजनाओं पर भी चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि सभी कार्य समय से गुणवत्ता के साथ पूरे किए जाएं। उन्होंने गेहूं खरीद के बारे में भी जानकारी ली। खुले बाजार में मिल रही कीमत के बारे में पूछा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिक से अधिक किसानों से गेहूं की खरीद की जाए। किसानों को किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आनी चाहिए। मुख्यमंत्री को बताया गया कि मंडल में 15 लाख से अधिक बोरे प्राप्त हो चुके हैं और सभी केंद्रों पर भेज भी दिए गए हैं।

Advertisement