Home उत्तर प्रदेश ब्रेकथ्रू ने स्त्रीलिंक मेले का किया आयोजन, किशोर-किशोरियों के शिक्षा, स्वास्थ पर...

ब्रेकथ्रू ने स्त्रीलिंक मेले का किया आयोजन, किशोर-किशोरियों के शिक्षा, स्वास्थ पर हुई चर्चा

Advertisement

गोरखपुर। किशोर-किशोरियों के शिक्षा,स्वास्थ्य,अधिकारों और मुद्दों पर चर्चा हेतु भटहट स्थित नरहापुर के सरस्वती इंटर कॉलेज में स्त्रीलिंक मेले का आयोजन किया गया । इस मौक़े पर समुदाय के सदस्यों और टीम चेंज लीडर्स ने मिलकर स्वास्थ्य,शिक्षा,लैंगिक समानता और हिंसा जैसे मुद्दों पर आधारित कई स्टाल लगाए और जेंडर आधारित खेलों का आयोजन भी किया ।
इस कार्यक्रम में विभिन्न हितधारकों की और से भी कई रोचक जानकारियाँ और योजनाओं के बारे में बताया गया |

कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए मुख्य अतिथि चाइल्ड रिहैबिलिटेशन सेंटर के नीरज मधुकर ने किशोर और किशोरियों की समस्याएँ सुनीं और उनके जवाब दिए | उन्होंने कहा कि किशोर-किशोरियों की समस्याओं के निस्तारण और उनकी सुविधाओं को ले कर निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं और इन प्रयासों की वजह से ही बदलाव आएगा |

चाइल्ड लाइन के सिटी मैनेजर सत्य प्रकाश ने चाइल्ड लाइन की कार्यप्रणाली पर बातचीत करते हुए चाइल्ड लाइन बच्चों की किस प्रकार मदद करता है इस बारे में भी बताया | कार्यक्रम में श्रम विभाग से यशवंत ने श्रम विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के बारे में चर्चा करी और साथ ही साथ कैसे इन योजनाओं से जुड़ कर लाभ उठाया जा सकता है इस पर भी बातचीत करी |

Advertisement

ब्रेकथ्रू की राज्य प्रमुख कृति प्रकाश ने बताया कि इस कार्यक्रम का मकसद अंतर पीढ़ी संवाद को बढ़ावा देना है और जब इस तरह का संवाद समाज में निरंतर होना शुरू हो जाएँगे तो अपने आप समाज विकास के पथ पर अग्रसर हो जाएगा | उन्होंने इस बात पर ज़ोर देते हुए कहा कि अंतर पीढ़ी संवाद का मकसद सभी पीढ़ियों को एक स्तर पर ला कर मुद्दों की बात को बढ़ावा देना है और यही इस स्त्रीलिंक मेले का मुख्य मकसद है |

इस कार्यक्रम में ब्रेकथ्रू से आकाश,दीप,महेंद्र,दीप,सुप्रिया और अश्विनी समेत लगभग 400 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

ब्रेकथ्रू एक स्वयंसेवी संस्था है जो महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ होने वाली हिंसा और भेदभाव को समाप्त करने के लिए काम करती है। कला, मीडिया, लोकप्रिय संस्कृति और सामुदायिक भागीदारी से हम लोगों को एक ऐसी दुनिया बनाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं, जिसमें हर कोई सम्मान, समानता और न्याय के साथ रह सके। हम अपने मल्टीमीडिया अभियानों के माध्यम से महिला अधिकारों से जुड़े मुद्दों को मुख्यधारा में लाकर इसे देशभर के समुदाय और व्यक्तियों के लिए प्रासंगिक भी बना रहे हैं। इसके साथ ही हम युवाओं, सरकारी अधिकारियों और सामुदायिक समूहों को प्रशिक्षण भी देते हैं, जिससे एक नई ब्रेकथ्रू जनरेशन सामने आए जो अपने आस-पास की दुनिया में बदलाव ला सके।

Advertisement
Advertisement
Exit mobile version