कांग्रेस के बाद बीजेपी और सपा ने भी यूपी में रद्द किया अपना चुनावी कार्यक्रम

137
Advertisement

Advertisement

कोविड के मामलों में वृद्धि को देखते हुए कांग्रेस द्वारा अपने पिंक मैराथन और रैलियों को रद्द करने के बाद, भाजपा और समाजवादी पार्टी (सपा) ने भी अपने चुनावी कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, 9 जनवरी को लखनऊ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रस्तावित रैली को कोविड की स्थिति और खराब मौसम की स्थिति को देखते हुए रद्द हुई है।

Advertisement

समाजवादी पार्टी ने 7 जनवरी, 8 और 9 जनवरी को होने वाली अपनी विजय रथ यात्रा को भी रद्द कर दिया है, जिसका नेतृत्व पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव कर रहे थे। तय कार्यक्रम के मुताबिक अखिलेश को 7 जनवरी, 8 और 9 जनवरी को गोंडा, बस्ती और अयोध्या में जनसभाओं को संबोधित करने वाले थे।

सपा नेताओं ने कहा कि 9 जनवरी के बाद होने वाली बैठकों पर फैसला अगले कुछ दिनों में कोरोना के हालात का आकलन करने के बाद लिया जाएगा। बता दें अखिलेश की अयोध्या यात्रा से राजनीतिक गलियारों में काफी गर्मी बढ़ने की संभावना थी क्योंकि इस चुनावी मौसम में राम मंदिर की उनकी पहली यात्रा रहती।

हाल ही में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 26 दिसंबर को अपनी अयोध्या यात्रा के दौरान दावा किया था कि अखिलेश यादव 2022 के विधानसभा चुनावों में सत्ता में आने पर अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को रोकने की योजना बना रहे हैं।

Advertisement

हालांकि समाजवादी पार्टी ने अमित शाह के आरोपों को निराधार बताते हुए खारिज कर दिया था और अखिलेश यादव ने आरोप के जवाब में कहा था की, अयोध्या में राम मंदिर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बनाया जा रहा है। भारत में किसी व्यक्ति, पार्टी या प्राधिकरण में निर्माण को रोकने की हिम्मत नहीं है। भाजपा जानती है अब उन्हें वोट नहीं मिलेगा इसी हताशा में भाजपा हर दिन सपा को निशाना बना रही है।

Advertisement