पवन सिंह को जन्मदिन मनाने के लिए प्रशासन ने नहीं दी अनुमति, समर्थक बोले डर गई योगी सरकार

301
Advertisement

गोरखपुर। गोरखपुर के चर्चित नेता पवन सिंह ने अपना जन्मदिन काफी धूमधाम से मनाने की तैयारी की थी। इसके लिए उन्होंने शहर के सबसे बड़े पार्क स्थलों में से एक चंपा देवी पार्क को बकायदा प्रशासन से अनुमति लेकर बुकिंग भी कर लिया था।

Advertisement

जीडीए प्रशासन की तरफ से सहमति और एडीएम के तरफ से अनापत्ति प्रमाण पत्र भी जारी कर दिया गया था।

Advertisement

पवन सिंह ने यह दावा भी किया था की उनका जन्मदिन ऐतिहासिक होगा और 4 लाख से अधिक लोग उनके जन्मदिन के अवसर पर जुटेंगे।

शहर में हर चौक चौराहे पर पोस्टर बैनर भी लग चुके थे। खेसारी लाल यादव सहित बॉलीवुड के कई कलाकारों को इस जन्मदिन समारोह में आमंत्रित किया गया था। इन कलाकारों ने बकायदा वीडियो जारी कर लोगों से पवन सिंह के जन्मदिन में शामिल होने की अपील भी की थी।

लेकिन अचानक प्रशासन ने अपनी सहमति वापस लेते हुए जन्मदिन समारोह के आयोजन पर रोक लगा दिया। प्रशासन इसके पीछे मुख्यमंत्री के 22 नवंबर के होने वाले कार्यक्रम का हवाला दे रही है।

Advertisement

लेकिन पवन सिंह के समर्थक यह बात मानने को तैयार नहीं है उनका कहना है कि मुख्यमंत्री कार्यालय से फोन आने के बाद आनन-फानन में पवन सिंह के जन्मदिन कार्यक्रम पर रोक लगाई गई है। ऐसा सिर्फ पवन सिंह की बढ़ती लोकप्रियता को देखकर किया गया है।

समर्थकों का कहना है कि पवन सिंह की लोकप्रियता से सरकार भी घबरा रही है यही वजह है कि अनुमति मिलने के बाद भी अनुमति वापस ले ली गई है।

Advertisement

वहीं पवन सिंह ने इस बारे में कोई भी टिप्पणी करने से इनकार किया है। साथ ही अपने समर्थकों से कहा है कि वे साधारण तरीके से पवन सिंह का जन्मदिन मनाएं।

आपको बता दें कि पवन सिंह गोरखपुर ही नहीं बल्कि पूर्वांचल के सबसे चर्चित और तेजी से उभरते नेता हैं। जो अपनी अनोखी शैली और गरीबों की हमेशा मदद करने को तत्पर रहने की वजह से जाने जाते हैं।

फिलहाल पवन सिंह समाजवादी पार्टी से जुड़े हुए हैं और पनियरा विधानसभा से चुनाव लड़ने की दावेदारी पेश कर रहे हैं।

Advertisement

हालांकि चुनाव अभी कुछ समय बाद है लेकिन जिस तरह से पवन सिंह चर्चाओं में बने हुए हैं वह कुछ लोगों को असहज तो कर ही रहा है।

Advertisement
Advertisement