उपचुनाव: ‘बाबा’ ही हराएगा बाबा को

390
Advertisement

एक है राजन यादव उर्फ अर्थी बाबा। हमेशा अपने अजीबो गरीब कारनामो से जनता का ध्यान अपने तरफ खीच ही लेते है । कभी वह अर्थी पर बैठकर चुनावी प्रचार करते है तो कभी मरे हुए लोगो को अपने हिसाब से जिंदा करके पोलिंग एजेंट बना देते हैं, जी हाँ यही खास बात होती अर्थी बाबा की ।

Advertisement

गोरखपुर का चुनाव हो और अर्थी बाबा की जिक्र ही ना हो सवाल ही नहीं है । छोटे बड़े कुल मिलाकर बाबा 11 चुनाव लड़ चुके है और एक बार राष्ट्रपति का भी चुनाव शामिल है यह अलग बात है उनको कोई प्रस्तावक नहीं मिला और वो चुनाव नह लड़ पाए।

Advertisement

गोरखपुर उप चुनाव पर अर्थी बाबा का कहना है की यह प्रदेश और देश के हिसाब से बहुत ही महत्वपूर्ण चुनाव है और उनका तर्क है की बीजेपी को सिर्फ वही हरा पाएंगे और कोई नहीं इसलिए विपक्ष उन्हें टिकट दे । गोरखपुर लाइव ने जब उनसे यह पूछा की यह बीजेपी का गढ़ है और लोगो का मंदिर के प्रति हमेशा से ही आस्था रहा है तो आप कैसे इतने आसानी से हरा देंगे ? अर्थी बाबा का तर्क भी बहुत चौकाने वाला है उनका कहना है एक बाबा को एक बाबा ही हरा सकता है अर्थी बाबा कहते है जब प्रधानमंत्री विधानसभा के चुनावो में शमशान का मुद्दा उठाकर चुनाव जितवा सकते है तो हम तो हमेशा से ही शमशान का रक्षक रहा हूँ और वही मेरी पार्टी कार्यालय भी है इसलिए विपक्ष हमें टिकट दे और मैं हराके दिखाऊंगा । जब अर्थी बाबा से यह पूछा गया की अगर टिकट नहीं मिला क्या तब भी आप चुनाव लड़ेंगे तो उनका कहना है की विपक्ष की भारी भूल होगी हमको टिकट ना देना और ना भी दिए तब भी हम लड़ेंगे ।

इतना तो तय है की विपक्ष टिकट दे या ना दे अर्थी बाबा उप चुनाव लड़के मीडिया और जनता का ध्यान अपने तरफ खिंचने में कामयाब हो जायेंगे जो वह हमेशा होते रहते है ।

Advertisement
Advertisement

Advertisement